Ticker

6/recent/ticker-posts

Cloud Computing kya hai | Cloud Computing tutorial

दोस्तों Dealsclick.in में  आपका स्वागत हैं | आज हम discuss करेंगे ऐसे एक टॉपिक के उपोर जिसके वारे में आप लोगो ने कभी न कभी कही न कही सुने होंगे, में बात कर रहा हु Cloud Computing के वारे में , Cloud Computing kya hai, Cloud Computing Definition, Cloud Computing कैसे काम करता है और किया किया Benefits हैं Cloud Computing का, आज हम Cloud Computing के वारे में पूरी डिटेल्स में बात करेंगे.

Cloud Computing kya hai
Cloud Computing kya hai


Cloud Computing kya hai (What is Cloud Computing in Hindi)?

Cloud Computing kya hai ? Cloud Computing  एक तरीका हैं आपका डाटा स्टोर करने का, एक ऐसा जायगा पे जिससे आप easily access कर पाय. आप जानते हो किया? हर रोज़ आप Cloud Computing यूज़ कर रहे हो, आगर आप मोबाइल यूज़ करते हो और मोबाइल में Facebook, Twitter, मेल जैसे बोहोत सरे इस्तेमाल करते हैं तो.

दोस्तों आप जब WhatsApp इस्तेमाल करते हो तो आपका सब डाटा जैसे मेसेज, इमेज, विडियो सब आपके मोबाइल के स्टोरेज में सेव होता हैं. और अगर आप दुसरे के मोबाइल से WhatsApp चलाना चाहो तो आपके पुराने वाले डाटा आप देख नहीं पाएंगे.

लेकिन दोस्तों Facebook, Twitter, Mail में ऐसा नहीं होता, आप जब चाहो तब किसी के मोबाइल, laptop से आपका Username और Password दे के अकाउंट खुल पाते हो और अच्छी तरह से access भी कर सकते हो. जानते हो कैसे? आपका WhatsApp डाटा मोबाइल स्टोरेज में सेव रहेता हैं लकिन Facebook , Twitter और Mail अकाउंट का डाटा एक सर्वर में सेव रहेता हैं इस प्रोसेस को  Cloud Computing कहेते हैं.

Internet se paise kaise kamaye | online पैसे कमाने के 5 आसान तरीके

Characteristics of Cloud Computing

दोस्तों में कुछ बेसिक Cloud Computing Characteristics में discuss करूँगा जिससे आपको Cloud Computing के वारे में एक आईडिया हो जायेगा.


Cost Reduction

दोस्तों पहेला जो विशेषताएँ हैं वोह हैं Cost reduction हा दोस्तों आप इसको benefit भी बोल सकते हो और advantage भी बोल सकते हो और उसको एक characteristics के तरह भी ले सकते हो.  अगर आप Cloud Computing नहीं लेते हो तो आपको Softwares लगेंगे, Hardwares लगेंगे उसके लिए आपको पैसे invest करना पड़ेगा

और उन्सब्को maintain और security risk को resolve करने के लिए आपको अलग से पैसे लगेगा, टाइम जायेगा, उससे अच्छा हैं आप एक Cloud Provider पकड़ लो बोहोत सरे Cloud Provider हैं जिनको आप online सर्च करके कांटेक्ट कर सकते हो और उनसे उनका Server Resources rent में लेके जिससे आपका खर्चा और परेशानी दोनों कम हो जायेगा और आप अपना effort अपने business grow करने में लगा पाएंगे.


Device and Location Independence

दोस्तों अगर आप Cloud Computing यूज़ करते हो तो आप किसी भी device से access कर सकते हो. अगर आप PC से access करना चहेते हो, laptop से करना चाहते हो, tablet से करना चाहते हो, mobile से चाहते हो access करना वोह भी कर सकते हो. इसी तरह location Independence हैं.

आप अगर Cloud Computing यूज़ करना चाहते हो तो आपके पास एक हाई स्पीड internet होना चाइये बस. आप किसी भी location पे हो मानलो आप China पे हो, Africa में हो या फिर किसी भी Country से Cloud Computing यूज़ कर सकते हो. Cloud Computing किया करता हैं एक तरह से आपके उपर से सभी प्रकार का restriction हटा देता हैं आप जंहा से चाहो, जिस किसी device से चाहो Cloud Computing यूज़ या implement कर सकते हो.


Maintenance

दोस्तों Maintenance एक बोहोती अच्छा विशेषताएँ हैं Cloud Computing का. आपको कोई Software इनस्टॉल करना नहीं पड़ता और समय समय में उस Software को अपग्रेड भी नहीं करना पड़ता. आप जो भी Cloud Computing कंपनी यूज़ करते हो उस वेंडर ये सब Software अपग्रेड और Maintenance करेंगे. आप बस यूज़ करेंगे और बदले में आप जितना टाइम यूज़ करेंगे उसका पैसा पे करेंगे.



On demand self service

दोस्तों आपको जैसे चाइये, जितना चाइये, जब चाइये तब आपको मिलजायेगा मतलब आप जब चाहोगे demand के मुताबिक आप demand कर सकते हो. जितना टाइम के लिए चाहोगे इतना टाइम के लिए आप ले सकते हो बदले में आप जितना टाइम यूज़ करोगे उतने टाइम का आपको रेंट देना हैं. ये एक तरह का सेल्फ सर्विस हुआ ना आप अपने खुद के demand के मुताबिक यूज़ कर पाते हो.


Security

दोस्तों अगर आप प्राइवेट Cloud यूज़ करते हो तो इसमे जियादा Security और प्राइवेसी प्रोटेक्शन रहेता हैं. एसा नहीं की सिर्फ प्राइवेट Cloud में Security रहेती हैं Public Cloud में भी Security रहेती हैं. लेकिन Private Cloud में थोरा जियादा Security रहेता हैं as compare to public Cloud. कारन हैं प्राइवेट Cloud सिर्फ एक आर्गेनाईजेशन के लिए बनाया जाता हैं उनको पुचा जाता हैं की ये Cloud का part सिर्फ आपके लिए रिज़र्व रहेगा specifically एक आर्गेनाईजेशन के लिए रहता हैं इसलिए security भी थोरा जियादा रहेता हैं

और Public Cloud openly शेयरिंग रहेता हैं इसलिए Security थोरा कम रहेता हैं. लेखिन दोनों ही समान हैं थोरा कम और थोरा जियादा. Security भी बोहोत ही important हैं और Security आपको provide किया जाता हैं specially अगर आप प्राइवेट Cloud Deployment Model यूज़ करते हो तो.


Reliability

दोस्तों Reliability एक बोहोत ही important Characteristic है. अगर कोई Failure आता हैं उस Failure को recover करना बोहोत ही जरुरी हैं और failure को recover करके  reliability को enhance करता हैं Cloud क्यों की Cloud का environment एक तरह के Modular Structure हैं जो आपके reliability को enhance करता हैं उसको strong करता हैं reliable बानाने के कोशिश करता हैं.

दोस्तों ये कुछ बेसिक Characteristic हैं जिसको आपको cloud computing से मिलता हैं.

Youtube subscriber Kaise badhaye?

Benefits of Cloud Computing

दोस्तों ऐसे तो बोहोत सरे फायदे होते हैं Cloud Computing में पर अभी में कुछ Primary important Benefits के वारे में discuss करूँगा. आप किसी भी कंपनी के Cloud Computing यूज़ करते हो तो ये Benefits आपको मिलेंगे.


Reduced Investment :-

दोस्तों अगर आप एक वेबसाइट चला रहे हो तो hosting के लिए आपको servers चाइये होगा तो अपने servers खरीद लिया servers खरीदने में आपको पैसा लगेगा और server खरीदने के बाद उसको मेन्टेन और मेन्टेन के साथ उसके Security Risk और Security Issue को resolve करने के लिए आपको और पैसा, दिमाग, टाइम लगेगा दोस्तों इस तरह खर्चा रुकने वाला नहीं हैं खर्चा बड़ते जायेगा. तो इनसब परेशानी को हम अगर किसी 3rd party को दे देते हे तो इससे अच्छा किया होगा.

आजके टाइम पे बोहोत सरे कंपनी हैं जो कम प्राइस में होस्टिंग प्रोविडे करते हैं जैसे Amazon हे, गूगल हैं, Microsoft हैं. आपको सिर्फ उन कंपनी को पकड़ना हैं और उनको बोलना हैं की में एक वेबसाइट रन कर रहा हु और उसके लिए आपके resources को यूज़ करूँगा और बदले में, में आपका Servers जितना यूज़ करूँगा उसके बदले में आपको उसका रेंट दे दूंगा. इस तरह आपका time, पैसा और दिमाग कम लगेगा और इससे आपका जो पैसा बचत होगा उन्सब्को आप अपने Business grow करने में लगा पाएंगे.


Increased Scalability

दोस्तों अभी मानलेते हैं अपने वेबसाइट होस्ट करा दी उसके बाद भी बोहोत चीज़ रहे जाती हैं. आपको उस वेबसाइट की Scalabilty चाइये होंगे. अभ आपके मन में आया होगा Scalability क्या हैं. दोस्तों अगर आपने एक business स्टार्ट किया हैं तो आपको अपने business को प्रमोट करने के लिए एक वेबसाइट चाइये होंगे.

तो आप चायेंगे आपके वेबसाइट में लोग का पॉजिटिव response रहे. लोग जियादा आपके वेबसाइट विजिट करे. दिनके कुछ वक़्त ऐसा रहेता हैं जिनमे आपके वेबसाइट में हैवी लोड पड़ता हैं और कुछ टाइम ऐसा भी रहेता हैं जिसमे आपके वेबसाइट में लोड कम पड़ता हैं . चलिए में एक example से ये बात समझ ते है. 

दिन में सोभे के 9 से श्याम के 6 के बिच लोग अपने ऑफिस कामो मे बिजी रहेंगे तो आपके वेबसाइट में traffic कम होंगे तो server की resources भी कम चाइये होंगे और श्यामके 6 बजे के बाद लोग तो फ्री हो जायेंगे ऑफिस के कामो से, तब आपके वेबसाइट पे traffic जयादा आयेंगे तो लोड भी जियादा पड़ेगा तब आपके server के resources भी जियादा लगेगा. तब Scaleup और Scaledown आना चाइये, Scalability होने चाइये तब आप अपने business को grow कर पाएंगे. आप ये प्रेडिक्शन कर पायो की कभ आपके साईट के Scaleup और Scaledown होती हैं. ये सब increased scalability होती हैं Cloud Computing में.


Increased availability

दोस्तों अभी मैंने जैसे business grow करने के बारे में बात कर रहा था जैसे आपके business grow होते रहेगा और आपके वेबसाइट में लोग विजिट करते रहेंगे तब आपके वेबसाइट में availability चाइये होंगे resources की, services की जब आपके वेबसाइट में कोई आयेंगे तब आप उनको नहीं बोल सकते की आप 2 घंटे वेट करे अभी वोह सर्विस कोई दूसरा यूज़ कर रहा हैं, आपको 2 घंटे के बाद allocate करूँगा. 

आपका वेबसाइट 24x7 availability होने चाइये. Resource और Services की availability होने चाइये जिससे आपके Business value भी बढेगा और आपके वेबसाइट में आने वाले Clint जिसके साथ आप business करेंगे उनके और आपके बिच relationship भी अच्छे होंगे. Cloud Computing में availability जियादा रहेती हैं जिससे Business establishment करने में आसानी होती हैं.


Reliability

अगर आपके के साईट में कोई फाल्ट या failure हो गया तो जल्द ही recover होने चाइये. इससे आपके business रुकेंगे नहीं आपके सिस्टम रिलाएबल होने चाइये fault या failure को जल्द recover करने के लिए. Cloud Computing बोहोत ही रिलाएबल हैं recovery के लिए.

दोस्तों अपने अगर Cloud Computing का archituture देखे होंगे Cloud Computing modular structure में होती हैं security का module हैं, storage का module हैं, system का module हैं, Cloud Computing पूरी तरह से एक modular structure हैं जिससे reliability बड जाती हैं fault या failure को recovery के.

दोस्तों हम सबने समझा Cloud Computing से कैसे खर्चा कम हो जाते हैं और Scalability, Availability और Reliability कैसे increased  होती हैं, जिससे हम अपने एक Business को वेबसाइट के मद्धम से जल्द ही establish कर पाते हैं और अच्छी तरह से grow कर सकते हैं.


जरुर पढ़े :
Facebook se paise kaise kamaye

Conclusion 


दोस्तों आपको हमारी ये पोस्ट Cloud Computing kya hai कैसी लगी और आपका कोई सुजाब हो तो Comment करके जरूर बोलियेगा। 

मेरे इस पोस्ट Cloud Computing tutorial की माध्यम से Cloud Computing kya hai, कुछ important Characteristic और  Benefits सरल भाषा में समझाने की कोशिश किया हैं,  उम्मीद हैं आपको मेरा ये पोस्ट पसंद आया होगा और आपके जो भी doubts थे वह clear हुए होंगे। 

मेरे इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करियेगा जिससे उनको भी को समझने में आसानी हो। मेरे blog के साथ जुड़े रहने के लिए धन्यवाद। 














टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां